Mahashivratri in hindi essay. महाशिवरात्रि पर निबंध 2018 2019-01-05

Mahashivratri in hindi essay Rating: 5,4/10 1766 reviews

Essay on Mahashivratri in Hindi Speech, Paragraph

mahashivratri in hindi essay

उसके बाद 6 मास तक कैलाश पर्वत से उतरकर धरती पर श्मशान घाट में निवास किया करते हैं. सभी महिलाये और पुरुष दोनों सूर्य शिव और विष्णु की प्रार्थना करते हैं. People from different societies around the island spent a lot of time for Shivaratri preparations. इन २-३ महीनो में हम भारतीयों कई त्यौहार मानते है जैसे की, , और. The most popular legend is the wedding day of Lord Shiva and Parvati. इस दिन जो इंसान शिवरात्रि का व्रत और पूजना सच्चे मन से करता है! महाशिवरात्रि के दिन आप नमक के पानी का छिड़काव आपने पुरे घर पर करे! ईशा फॉउण्डेशन नामक एक संस्था महाशिवरात्रि के दिन एक बड़े समारोह है आयोजन करती है. भक्त गण शिवरात्रि के दिन उपवास, पूजा और भगवान् शंकर की प्रार्थना करते है.

Next

Essay on Mahashivratri in Hindi महाशिवरात्रि पर निबंध

mahashivratri in hindi essay

भगवान शिव का यह अवतरण प्राय फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को हुआ करता है. इस पावन दिवस पर शिवलिंग का विधि पूर्वक अभिषेक करने से मनोवांछित फल प्राप्त होता है! We Indians celebrate different festivals with great enthusiasm. He was forced to spend a night over tree top. उनके साथ ही सभी किट पतंग भी अपने बिलों में बंद हो जाते हैं. ऐसा करना बड़ा ही पूर्ण दायक माना जाता है. Some believe that on Maha Shivaratri Lord Shiva performed Tandava Nritya heavenly dance of creation, preservation, and destruction. इस महाशिवरात्रि के विशेष योग में इस उपायों को आजमाकर आप भी समृद्धि और आरोगे जीवन का वरदान प्राप्त कर सकते है! In the last paragraph, you should conclude the essay.

Next

महाशिवरात्रि पर हिन्दी निबन्ध MahaShivratri Hindi Essay

mahashivratri in hindi essay

दूसरी किवदंती के अनुसार इसी रात भगवान शंकर और देवी पार्वती का विवाह हुआ था. ऐसे करने से कुंडली के दोष दूर हो जायेगा! Bilwa leaf has three segments representing all these three gunas. My mom observes a very strict fast during this auspicious day. आप इस दिन कुछ कुछ ऐसे उपाय कर सकते है जिससे आपके हर काम बना जाये! There are several stories and mythological beliefs by the followers of the Lord Shiva why Shivratri is being celebrated each year. The popularity of this festival has increased double fold during last 15 - 20 years. It is one of the festivals which is celebrated with such great devotion in Mauritius. A 112-foot statue of Adiyogi Shiva is built in Isha Yoga Centre.

Next

महाशिवरात्रि पर निबंध 2018

mahashivratri in hindi essay

Doubt is the negative force robbing of Glow and Meaning. Meditation and observing introvert behaviour on this day is thus a direction to properly channelize the energy. महा शिवरात्रि ऐसा ही एक बड़ा त्यौहार है जो फरवरी और मार्च के बिच में मनाया जाता है. महाशिवरात्रि क्यों मनाई जाती है? Mothers offer special prayers for their sons and daughters, wives for their husbands and unmarried girls for ideal husbands. ऐसे करे से आपके घर में बुरी आत्माओ और बुरी हवा यानि की सभी तरह की नकारत्मक ऊर्जा नहीं आएगी! Lord Shiva was pleased and awarded him the best of the mortal world by making him King of a huge dynasty. तीनों भुवनों की अपार सुन्दरी और शीलवती गैरों को अर्धांगिनी बनाने वाले भगवान शिवजी प्रेतों व पिशाचों के बीच घिरे रहते हैं. Then they visit Lord Shiva temples and worship Shiva Linga with milk, curd, honey, leaves on Bela.

Next

Hindi Essay

mahashivratri in hindi essay

About Mahashivratri Festival In Hindi:-हर हर महादेव-आज के इस आर्टिकल में, मैं आपके साथ Essay on Mahashivratri in Hindi आप सभी का बहुत बहुत स्वागत है दोस्तों, आज के इस लेख में भगवान शिव जी के महा पर्व महाशिवरात्रि के बारे में बहुत सारी जानकारी प्राप्त करेंगे! It Is Very Near To Us. हमारा देश भारत त्योहारों का देश है यहाँ होली, दिवाली, दशहरा, पोंगल, महाशिवरात्रि, क्रिसमस, ईद इत्यादि अनेक त्योहार मनाए जाते हैं हम लोग यह सारे त्योहार धूमधाम से मनाते हैं जैसा कि आप जानते हैं इस वर्ष 24 फरवरी को महाशिवरात्रि पड़ रही है हिन्दू कैलेंडर के हिसाब से यह त्योहार प्रतिवर्ष फाल्गुन मास की कृष्ण चतुर्दशी को अर्थात अमावस्या से एक दिन पहले वाली रात को मनाया जाता है। ऐसा माना जाता है कि सृष्टि के प्रारंभ में इसी दिन मध्यरात्रि को भगवान शंकर रूद्र के रूप में प्रजापिता ब्रह्मा के शरीर से प्रकट हुए थे और इसी महाशिवरात्रि Essay on Mahashivratri in Hindi को भगवान शिव तांडव नृत्य करते हुए इस सृष्टि को अपने तीसरे नेत्र की ज्वाला से भष्म कर देंगे कई स्थानों पर यह भी माना जाता है कि इसी दिन भगवान शिव का विवाह हुआ था इन सब कारणों से महाशिवरात्रि की रात हिंदू धर्मग्रंथों में अतिमहत्त्वपूर्ण है महाशिवरात्रि के दिन सुबह से ही शिवमंदिर में कतारें लग जाती हैं लोग जल से तथा दूध से भगवान शिव का अभिषेक करते हैं जहाँ तक हो सके लोग गंगाजल से शिवलिंग को स्नान कराते हैं कुछ लोग दूध, दही, घी, शहद और शक्कर के मिश्रण से भी स्नान कराते हैं फिर उन पर चंदन लगाकर उन्हें फूल, बेल के पत्ते अर्पित किये जाते हैं धूप और दीप से भगवान शिव का पूजन किया जाता है भगवान शिव को बेल के पत्ते अतिप्रिय है इसलिए लोग उन्हें बेलपत्र अर्पण करते हैं महाशिवरात्रि Essay on Mahashivratri in Hindi को रात्री जागरण का भी विधान है लोग शिवमंदिरों में अथवा घरों में पूरी-पूरी रात जागकर भगवान शिव की आराधना करते हैं कई लोग इस दिन शरीर और मन को पवित्र करने के लिए उपवास भी रखते हैं कुछ लोग निर्जल रहकर भी उपवास करते हैं कई जगह भगवान शिव की बारात भी निकाली जाती है महाशिवरात्रि से संबंधित कई पौराणिक कथाएँ भी हैं जो बहुत प्रेरणादाई हैं ऐसी ही एक कथा में चित्रभानु नामक एक शिकारी का उल्लेख मिलता है चित्रभानु को महाशिवरात्रि के व्रत का कोई ज्ञान नहीं था वह जंगल के जानवरों को मारकर अपना जीवन यापन करता था एक बार महाशिवरात्रि के दिन अनजाने में उसे शिवकथा सुनने मिली शिवकथा सुनने के बाद वह शिकार की खोज में जंगल गया वहाँ शिकार का इंतज़ार करते-करते वह अनजाने में बेल के पत्ते तोड़कर घास के ढेर के नीचे ढँके हुए शिवलिंग पर फेंकता जाता उसके इस कर्म से प्रसन्न होकर भगवान शिव उसका ह्रदय निर्मल बना देते हैं उसके मन से हिंसा के विचार नष्ट जाते हैं वह जंगल शिकार करने गया था किंतु एक के बाद एक ४ हिरणों को जीवनदान देता है उस दिन के बाद से चित्रभानु शिकारी का जीवन छोड़ देता है इस कहानी से हमें भगवान शिव की दयालुता का परिचय मिलता है वे अनजाने में की हुई पूजा का भी फल प्रदान करते हैं एक हिंसक शिकारी का ह्रदय करुणामय बना देते हैं इस तरह महाशिवरात्रि Essay on Mahashivratri in Hindi का त्योहार प्राणिमात्र के प्रति दया और करुणा का संदेश भी देता है धार्मिक ग्रंथों में ऐसा विधान है कि भगवान शिव की पूजा करने से सारे सांसारिक मनोरथ पूरे हो जाते हैं नीति-नियम से न हो सके तो साधारण तरीके से पूजा करने पर या सिर्फ उन्हें स्मरण कर लेने पर भी भगवान शिव प्रसन्न हो जाते हैं हमारे देश का हर त्योहार हमें इकट्ठा होनें, खुशियाँ बाँटने, और समाज के हित में कुछ करने का मौका देता है हमें चाहिए कि महाशिवरात्रि के दिन भी हम समाज के हित के लिए अपनी क्षमता के अनुसार कुछ न कुछ अवश्य करे कई संस्थाएँ इस दिन रक्तदान शिविर का आयोजन करती हैं तो कई दूसरी संस्थाएँ मुफ्त में भोजन वितरण का प्रबंध करती हैं कई लोग गरीबों को दान देते हैं परहित में किये गए यह सारे कर्म, हमें भगवान के ज्यादा करीब ले जाते हैं हमें भी भगवान शिव से प्रार्थना करनी चाहिए जिस तरह उन्होंने शिकारी चित्रभानु के ह्रदय को निर्मल और पवित्र किया, हमारे ह्रदय को भी उसी तरह निर्मल और पवित्र करे. A lot of Indian devotees also visit this temple on Maha Shivaratri. Which are the best Holy places for visit on Mahashivaratri Day? This Is Very Helpful Essay Nibandh For All Students. साथ ही गणेश जी भी खुश होते है और घर में सुख समर्द्धि की वृद्धि होती है! महाशिवरात्रि का महत्त्व महाशिवरात्रि के बारे में कई दंतकथाएं प्रसिद्ध है.

Next

महाशिवरात्रि पर निबन्ध (कथा कविता कहानी शायरी): Essay on MahaShivaratri in Hindi

mahashivratri in hindi essay

Almost every month Shivaratri occurs but Mhashivarari is the most important of all. If one uses these three i. यदि आपको इसमें कोई भी खामी लगे या आप अपना कोई सुझाव देना चाहें तो आप नीचे comment ज़रूर कीजिये. ! क्या आप महाशिवरात्रि पर निबंध लिखना चाहते हैं? This is one of the rituals of Shiva Pujan. Isha Foundation observes a massive festival in Shivaratri, thousands of people from India and abroad visit the place to participate in all night festival. The divine couple finally got together after rebirth of Sati as Parvati Ma. इस साल 2019 में महाशिवरात्रि 4 march 2019 को मनाया जाएगा महाशिवरात्रि की महत्व क्या है? Feel the verve of the festival with these lovely Shivratri essays contributed by our visitors.

Next

Maha Shivratri Essay 2018

mahashivratri in hindi essay

Shivratri is the perfect night to pray to Bhole Nath and achieve mukti. Accroding to some folklore, the Lord Shiva answered the question of Goddess Parvati about his favourite day. Mahashivratri — महाशिवरात्रि का पर्व भगवान शिव का अत्यंत महत्वपूर्ण व्रत है ऐसा माना जाता है के इस दिन माध्य रात्रि को भगवान शिव का ब्रह्मा से रूद्र रूप में अवतरण हुआ था भगवान शिव द्वारा इस दिन अपना तांडव करते हुए अपने तीसरे नेत्र की ज्वाला से ब्रह्माण्ड को भस्म कर दिया था इसीलिए इस दिन को कालरात्रि के नाम से भी जाना जाता है। एक और मान्यता के अनुसार इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती एक सूत्र में बंधे थे महाश्विरात्रि की रात्रि को बड़ा ही शुभ माना जाता है इस रात किया जाने वाला जागरण, व्रत, उपवास,साधना, तप और ध्यान आदि बड़े ही फलदायक माने जाते हैं इस पर्व पर उपवास रखने वाला सौ यज्ञों से अधिक पुन्य का भागी माना जाता है। इस दिन भगवान को बिल्व पत्र , जल दूध और मधु आदि चढाया जाता है इस दिन भोलेनाथ का जलाविषेक भी किया जाता है महाश्विरात्रि का फाल्गुन मास की कृष्ण चतुदर्शी को मनाने का एक और मुख्य कारण है इस दिन श्रीय चन्द्रमा के माध्य से धरती पर अलौकिक लयात्मक शक्तियाँ आती हैं। महाशिवरात्रि व्रत कथा के मुताबिक एक बार कैलाश पर्वत पर भगवान शिव माता पार्वती के साथ बैठे थे तभी माता ने शिव से पूछा हे स्वामी किस वक्त और किस विधि से की गयी पूजा आपको सबसे अधिक प्रिय है , तब भोलेनाथ ने कहा फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की त्रियोदशी जिस दिन शिवरात्री पर्व होता है इस दिन जो भी भक्त मेरी सच्चे दिल से पूजा और उपासना करता है में बहुत खुश होता हूं। इस पर्व पर कुंबारी कन्याएं भगवान शिव का व्रत रखती हैं और अच्छे वर की इच्छा रखती हैं और विवाहित इस्त्रियों के लिए मान्यता है के इस दिन व्रत रखने से उनके पति का स्वास्थ्य और उम्र लम्बी होती है।. शरीर बॉडी पर सम्सानों की भस्म है, उनके गले में सर्पो की माला, कंठ में विष, जटाओ में पावन-गंगा और माथे में प्रलयंकर ज्वाला है. Lack of food and water made his condition pathetic and he kept plucking the tree leaves and throwing them on ground so as to keep his mind engaged.


Next

Maha Shivratari 2019

mahashivratri in hindi essay

मैं आशा करता हूँ की आपको इस आर्टिकल में वो सारी जानकारी मिली होगी जो आप जानना चाहते थे. शिव अमंगल रूप होने पर भी भक्तों का मंगल करते है और धन-सम्पत्ति प्रदान करते है. Maha Shivaratri or Maha Shivratri is being celebrated in India and around the world. This Year We All Are Going To Celebrate Mahashivratri On 13th Of February 2018. Devotees offer jaggery, laddu and sugarcane to Lord Shiva. And finally, Satwic is intellect in the form of plucking Bilwa leaves and offering them just below the Shivalinga.

Next